Hindi Shayari Dil Se

Hindi Shayari Pictures, Love Shayari, Romantic Shayari, Pyar Shayari, Mohabbat Shayari, Dosti Shayari, Sad Shayari, Dardbhari Shayari, Bewafai, Tanhai, Judai, Yaadein Shayari, Suvichar Shayari

loading...

Love Shayari

Dosti Shayari On Picture : Teri dosti ne bohat kuch sikhla diya

Advertisements
Dosti Shayari Wallpaper

Dosti Shayari On Picture, Friendship Shayari Images :

Teri dosti ne bohat kuch sikhla diya,

Meri khamosh duniya ko jaise hasa diya,

Karzdaar hoon main khuda ka,

Jiss ne mujhe aap jaise dost se mila diya…

Advertisements

Romantic Shayari in Hindi – Part-1 (Shayari On Love, Pyaar, Mohabbat, Romance, Tareef, Dosti)

Loading...
Shayari On Love, Pyaar, Mohabbat, Taarif, Dosti
Hindi Shayari On Love, Pyaar, Mohabbat, Tareef, Dosti
परवाह नहीं अगर ये
जमाना खफा रहे।
बस इतनी सी दुआ है
की आप मेहरबां रहे।
=-=-=-=-=
तेरे पास में बैठना
भी इबादत
तुझे दूर से देखना
भी इबादत …….
न माला, न मंतर, न पूजा, न सजदा
तुझे हर घड़ी सोचना
भी इबादत….
=-=-=-=-=
आदते अलग हे हमारी
दुनिया वालो से,
कम दोस्त रखते हे
मगर लाजवाब रखते है-
क्योंकि बेशक हमारी
माला छोटी है-
पर फूल उसमे सारे
गुलाब रखते हे…
=-=-=-=-=
बस यही मासूम सा रिश्ता है तुमसे,
कि शामिल रहते हो,
मेरी हर दुआ में..|
=-=-=-=-=
कभी तो यकीन कर लो तुम मेरी मोहब्बत का,
कहीँ उमर न गुज़र जाये मुझे आज़माने मेँ…
=-=-=-=-=
सफ़र मोह्हबत का करके तो देखो
इंतजार हमसफ़र का करके तो देखो
समझ जायेंगे प्यार को तुम्हारे
एक बार दिल से इज़हार तो करके देखो
=-=-=-=-=
ऐ दोस्त तुम पे लिखना शुरू कहा से करूँ?
अदा से  करूँ या हया से करूँ?
तुम्हारी दोस्ती इतनी खुबसूरत है.
पता नहीं की तारीफ जुबा से करू या दुआ से करूँ?…..
=-=-=-=-=
बडी खामोशी से भेजा था गुलाब उसको…
पर खुशबू ने शहर भर में तमाशा कर दिया.
=-=-=-=-=
तू रूठा रूठा सा लगता है
कोई तरकीब बता मनाने की
मैं ज़िन्दगी गिरवी रख दूंगा
तू क़ीमत बता मुस्कुराने की
=-=-=-=-=
तुम छत पे ना जाया करो……..
शहर मेँ बेवजह, ईद की तारीख बदल जाती है…
=-=-=-=-=

तुम खुश-किश्मत हो जो हम तुमको चाहते है…
वरना,
हम तो वो है जिनके ख्वाबों मे भी लोग इजाजत लेकर आते है…!!
=-=-=-=-=
“कल किसी और ने खरीद लिया तो शिकायत ऩ करना,
इसलिए आज हम सबसे पहले तेरे शहर मे बिकने आये है.”
=-=-=-=-=
कुछ ऐसी मुह्हबत उसके दिल में भर दे या रब।।
वो जिसको भी चाहे वो “मैं” बन जाऊं।।
=-=-=-=-=
मुस्करा के जो देखा तो कलेजे में चुभ गये………
खँजर से भी तेज लगती हैं आँखे जनाब की…..!!
=-=-=-=-=
मैं जानता हूँ …. फिर भी पूछता हूँ …
तुम आईना देख कर बताओ … मेरी पसंद कैसी हैं .…
=-=-=-=-=
अपनी दोस्ती का बस
इतना सा असूल है…
ज़ब आप कुबूल है तो
आपका सब कुछ कुबूल है..
=-=-=-=-=
Mila Tha Ek Dil Jo De Diya Tum Ko…
Hazaroon Bhi Hote To Tere Liye Hote…
=-=-=-=-=
Kaun kahta hai
mohabat ek baar hoti hai..
main tujhe jitni baar dekhun mujhe utni baar hoti hai.
=-=-=-=-=
Laakh Samjaya k Shak Karti He Ye Duniya…!
Magar Na Gai Uski AAdat Hans Kar Guzr Jane Ki…
=-=-=-=-=
Kuch Nasha To Aapki Baat Ka Hai;
Kuch Nasha To Dheemi Barsaat Ka Hai;
Humein Aap Yun Hi Sharabi Na Kahiye;
Is Dil Par Asar To Aap Se Mulakat Ka Hai!
=-=-=-=-=
Ab tak Utarty hain Wahan khushbo k Qafily…
Bhooly Se likh diya tha…
Tera Naam jis Jagah.
=-=-=-=-=
Tohmaten To Lagti Rahi Roz Nayi Nayi Hum Par…….!!!
Magar Jo Sab Se Haseen Ilzaam Tha Woh Tera Naam Tha…
=-=-=-=-=
Kabhi Jo Bicharna Chaho To Ye Soch Lena….
Meri Saanso Ko Tum Bin Chalna Nahi Aata…
=-=-=-=-=
Kaanch sa jism kahin toot na jaye,
Husn waley teri angrrayi se dar lagta hai..
=-=-=-=-=
Kis Liye Dekhti Ho Aaina..!!!!!
Tum To Khud Se Bhi Jyada Khubsurat Ho…
=-=-=-=-=
Zindagi me khushi tere aane se hai..
warna jeene me gum har bahane se hai..!
=-=-=-=-=
Kon kehta hain peene wale mar jaate hain bhari jawani
mein???
Hum ne toh dekha hai buzurgon ko jawan hote hue maikhane
mein…!!!
=-=-=-=-=
Dunyan Kiitni Choti Hai Na?
Tum Pe Aa K Ruk Si Gayyii Hai…
=-=-=-=-=
Nazuk Mizaaj Hai Woh Pari Kuch Is Qadar,
Payal Jo Pehni Paon Mein To Cham Cham Se Darr Gai…
=-=-=-=-=
Aap Ko Main Ne Nigaahon Me Basa Rakha Hai…!!
Aaina Choriye” Aainey Me Kya Rakha Hai….!!!!!
=-=-=-=-=
Suna hai mil jaata hai sab kuch dua se,
Milti ho khud, Ya mangu KHUDA se?
=-=-=-=-=
Raaz kisi ko Na Batao To ik bat kahun,
Hum Rafta Rafta Tere Hote ja Rahe Hain…
=-=-=-=-=
Tu Zindagi Me Sub Se Azeez Hai Hume
Tujhse Har Baar Ye Kehna Bhool Jaate Hain..
=-=-=-=-=
Mujh se mat poch mere mehboob ki sadgi…
Nazren bhi mujh pe thi or parda bhi mujh se tha…
=-=-=-=-=
Maine Tum se Tumhe Manga,
To Tum Muskura Diye…
Tum Ye Bhi To Keh Sakte The,
Ki Apni Cheezain Manga Nahi Karte..
=-=-=-=-=
Seene Mein Dhadakta Jo Hissa Hai………
Uss’i Ka Toh Yeh Sara Qissa Hai……!!!!!
=-=-=-=-=
Sathi Ho Agar Tum Sa….To Manzil ki Tamanna Kya?
Hum Ko to Safar Pyara…Manzil Ko Khuda Hafiz”…!!

=-=-=-=-=

करनी है खुदा से गुजारिश
तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले,
हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा
या फिर कभी जिंदगी न मिले।
=-=-=-=-=
बस इतना ही कहा था मैने की बरसों से हैं प्यासे ……
होंठ पे रख के होंठ उसने खामोश कर दिया हमें
=-=-=-=-=
“अगर मिलती मुझे एक दिन की बादशाही..
तो ऐ दोस्तों…
मेरी रियासत में तुम्हारी तस्वीर के सिक्के चलते…”
=-=-=-=-=
“Mere chehre ki
chamak ho tum,
Meri Zindagi ki sabse
anmol chiz,
Kya kahu mera sara
jahan ho tum…..
=-=-=-=-=
Tum Zindagi Mein Aa
To Gaye Ho Khayal Rakhna,,
Hum Jaan To Dete Hain
Magar Jane Nahi Dete..!
=-=-=-=-=
Tujhme Chhupe Hai
Meri Jindagi Ke Hazaaro Raaz…
Tujhe Waasta Hai
Pyaar Ka Zara Khud Ka Khayaal Rakhna…..
=-=-=-=-=
Teri Jheel Si Gehri
Aankhon
Ko Jo Neel-E-Kanwal
Keh Doon,
Duniya Jal Jayai Gi,
jo Tujh Per Ghazal Keh Doon…
=-=-=-=-=
Shama bujhte hi ek
naya fasana ban gaya,,
Tere saath beetaya
hua ek lamha yaadgaar ban gaya!!!
=-=-=-=-=
Khamosh palkein ye
izhaar karti hai,
Pyari baatein iqrar
karti hai,
Ye saanse isliye
saath hai hamare,
Kyuki ye bhi aapko
bepanah yaad karti hai..
=-=-=-=-=
Meri Takmeel Mein
Shaamil Hai Tera Hissa Bhi,
Mein Agar Tujh Se Na
Milti To Adhoori Rehti…
=-=-=-=-=
Meri Tum Bebasi
daikho
Mujhay Tumse Mohabbat
Kay Siwa Kuch be Nahi Ata……
=-=-=-=-=
Hum Dono Mil Bethen
Gy To Raat Guzar Jaye Gi, .
Tanhai Ka Mujh Se Yeh
Kehna Bohat Acha Laga…
=-=-=-=-=
Betab Kar Gayi Mujhe
Jaadu Bhari Nazar…..
Hum Unke Dekhne Ki
Ada Dekhte Rahe….
=-=-=-=-=
Tere Husn Ko Parde Ki
Zarurat Hi Kya Hai,
Kaun Hosh Mein Rehta
Hai
Tujhe Dekhne Ke
Baad.!
=-=-=-=-=
Usne iss nazakat se
mere hotho ko chuma ,
Ki Roza bhi na tuta aur
iftari bhi ho gayi
=-=-=-=-=
दोस्ती का रिश्ता पुराना नहीं होता;
इससे बड़ा ख़जाना नहीं होता;
दोस्ती तो प्यार से भी पवित्र है;
क्योंकि इसमें कोई पागल या दीवाना नहीं होता।
=-=-=-=-=
क्यों मुश्किलों में साथ देते हैं दोस्त;
क्यों गम को बांट लेते हैं दोस्त;
न रिश्ता खून से न रिवाज से बंधा;
फिर भी जिंदगी भर साथ देते हैं दोस्त।
=-=-=-=-=
रुक गया है आसमान में चाँद चलते चलते……
अब तुम्हें, छत से उतरना चाहिए….
=-=-=-=-=
खुद को लिखते हुए हर बार लिखा है ‘तुमको’ …
इससे ज्यादा कोई जिंदगी को क्या लिखता…!!
=-=-=-=-=
उसने पूछा कि कौनसा तोहफा है मनपसंद?
…….
मैंने कहा वोह शाम जो अब तक उधार है…!!
=-=-=-=-=
जो हम में तुम हो और तुम में हम..
तो बताओ, बीच में है काहे का वहम !
=-=-=-=-=
खामोश हो पर चुप नहीं तुम…
ये आंखें तुम्हारी बहुत बोलती है
=-=-=-=-=
आज फिर बैठे है इक हिचकी के इंतजार में…….
पता तो चले कब हमें याद करते है…..!!
=-=-=-=-=
वजह पूछोगे उम्र गुज़र जाएगी………
कहा न अच्छे लगते हो तो बस लगते हो ..!!
=-=-=-=-=
मुस्करा के जो देखा तो कलेजे में चुभ गये………
खँजर से भी तेज लगती हैं आँखे जनाब की…..!!
=-=-=-=-=
न जाने क्यूं हमें इस दम तुम्हारी याद आती है……
जब आंखों में चमकते हैं सितारे शाम से पहले…!!
=-=-=-=-=
ना रख इतना गरूर ..अपने नशे में ए शराब,
तुझ से जयदा नशा रखती है, आँखें किसी की..
=-=-=-=-=
तू देख या न देख, तेरे दॆखनॆ का गम नहीं,
पर तेरी यॆ ना दॆखनॆ की अदा दॆखनॆ से कम नहीं ..
Advertisements
loading...
Loading...
Loading...
Hindi Shayari Dil Se © 2015