मुस्कान तभी पूरी होती है जब ह्रदय से प्रारम्भ होकर, आँखों में झलके और चेहरे पर दीप्ति बन कर चमके…….


मुस्कान तभी पूरीहोती है जबह्रदय से प्रारम्भहोकर, 
आँखों मेंझलके और चेहरेपर दीप्ति बनकर चमके…….

One thought on “मुस्कान तभी पूरी होती है जब ह्रदय से प्रारम्भ होकर, आँखों में झलके और चेहरे पर दीप्ति बन कर चमके…….

Leave a Reply